अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस : सीएम योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं को दिया मिशन शक्ति पुरस्कार - NATION WATCH (MAGZINE) (UPHIN-48906)

Latest

Breaking News

AAP नेता आतिशी और सौरभ भारद्वाज दोपहर 12 बजे करेंगे प्रेस वार्ता*ज्ञानवापी: व्यास तहखाने में जारी रहेगी पूजा-पाठ, इलाहाबाद HC कोर्ट का फैसला*आज भी ED के सामने पेश नहीं होंगे अरविंद केजरीवाल*पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में TMC पंचायत नेता की गोली मारकर हत्या*पश्चिम बंगाल पुलिस का एक्शन, TMC नेता अजीत मैती गिरफ्तार*PM नरेंद्र मोदी ने पुण्य तिथि पर वीर सावरकर को दी श्रद्धांजलि* [Nation Watch - Magzine - Title Code - UPHIND-48906]

Nation Watch


Monday, March 8, 2021

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस : सीएम योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं को दिया मिशन शक्ति पुरस्कार

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कई महिलाओं को मिशन शक्ति पुरस्कार प्रदान किया। इन पुरस्कृत महिलाओं ने अलग-अलग क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य किया है। 

लखनऊ के गोमती नगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान के जुपिटर हॉल में सोमवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर एक खास कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसी में सीएम योगी ने कई महिलाओं को मिशन शक्ति पुरस्कार दिए। इस कार्यक्रम के दौरान सीएम ने महिलाओं को भयमुक्‍त वातावरण उपलब्‍ध कराने के लिए चल रही सेफ सिटी परियोजना के दूसरे चरण की शुरुआत की। दूसरे चरण में प्रदेश के 12 शहरों गोरखपुर, वाराणसी, गौतमबुद्धनगर, मेरठ, आगरा, कानपुर नगर, प्रयागराज, अलीगढ़, बरेली, झांसी, मुरादाबाद व सहारनपुर को को शामिल किया गया है।

 

ये महिलाएं हुई सम्मानित

- रंजना द्विवेदी, महिला कल्याण विभाग में कार्यरत
- सीता कुंवर, सोनभद्र की सामाजिक कार्यकर्ता
- स्नेहा त्यागी, महर्षि दयानंद इंटर कॉलेज पट्टीमोढ़ा कांठ मुरादाबाद की कक्षा 11 की छात्रा
- कुसुम, स्वयंसेवा समूह से जुड़ीं (बरेली)
- मानमती, स्वयंसेवा समूह से जुड़ीं (अयोध्या) 
- सुनीता, सहारनपुर की सिविल जज
- आरती, गौतमबुद्धनगर की आशा कार्यकर्ता 
- प्रियंका राय, गाजियाबाद की एएनएम
- इंस्पेक्टर सोनी, वूमेन पॉवर लाइन लखनऊ
- संतोष कुमारी, रायबरेली की सब इंस्पेक्टर

महिलाएं कहीं भी महसूस करें असुरक्षित तो मिलाएं 112

यूपी 112 के एडीजी असीम अरुण ने बताया कि मिशन शक्ति के तहत घरेलू हिंसा पर अंकुश लगाने और
 महिलाओं को त्वरित सहायता उपलब्ध के लिए 112 द्वारा प्रदेश भर में 300 महिला पीआरवी चलाई जा 
रही हैं। इस पीआरवी पर  महिला पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है, ताकि पीड़ित महिला बेझिझक 
अपनी बात महिला पुलिस कर्मियों को  बता सकें। घरेलू हिंसा के मामलों में महिलाओं को 112 की तरफ 
से ‘प्रबल प्रतिक्रिया’ दी जाती है।

No comments:

Post a Comment

If you have any type of news you can contact us.

NATION WATCH -->