क्या भारत का सिस्टम आम जनता को धोखा देता है? - NATION WATCH (MAGZINE) (UPHIN-48906)

Latest

Breaking News

राहुल की भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल होंगे कमलनाथ* जयपुर: झोटवाड़ा इलाके में PNB बैंक में फायरिंग, बैंक मैनेजर घायल* हरियाणा के किसानों का फसली लोन पर ब्याज और जुर्माना माफ- CM खट्टर* कांग्रेस के युवराज ने काशी के युवाओं को नशेड़ी कहा- पीएम मोदी ने राहुल पर साधा निशाना* मोदी की गारंटी, मतलब काम पूरा होने की गारंटी: वाराणसी में बोले PM*समाजवादी पार्टी के बाहुबली नेता उदय भान सिंह की जमानत याचिका पर SC में 5 अप्रैल को सुनवाई*वाराणसी दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी ने किया रोड शो, सीएम योगी भी रहे साथ*बिहार विधान परिषद की 11 सीटों के लिए 21 मार्च को चुनाव*जयपुर: सवाई मानसिंह अस्पताल में शख्स को चढ़ाया गलत ग्रुप का ब्लड, मौत*पश्चिम बंगाल: फरार शाहजहां शेख के खिलाफ सड़कों पर उतरा पूरा गांव* [Nation Watch - Magzine - Title Code - UPHIND-48906]

Nation Watch


Tuesday, July 3, 2018

क्या भारत का सिस्टम आम जनता को धोखा देता है?


आप खुद देखिये....
   
1- नेता चाहे तो दो सीट से एक साथ चुनाव 
     लड़ सकता है ! लेकिन....
     आप दो जगहों पर वोट नहीं डाल सकते,


2-आप जेल मे बंद हो तो वोट नहीं डाल 
     सकते..लेकिन
     नेता जेल में रहते हुए चुनाव लड सकता है.


3-आप कभी जेल गये थे, तो
    अब आपको जिंदगी भर
     कोई सरकारी नौकरी नहीं मिलेगी,

लेकिन……
नेता चाहे जितनी बार भी हत्या या बलात्कार के मामले में जेल गया हो, फिर भी वो प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति जो चाहे बन सकता है।


4-बैंक में मामूली नौकरी पाने के लिये
आपका ग्रेजुएट होना जरूरी है..

लेकिन,
नेता अंगूठा छाप हो तो भी भारत का फायनेन्स मिनिस्टर बन सकता है।


5-आपको सेना में एक मामूली
सिपाही की नौकरी पाने के लिये डिग्री के साथ 10 किलोमीटेर दौड़ कर भी दिखाना होगा,

लेकिन....
नेता यदि अनपढ़-गंवार और लूला-लंगड़ा है
तो भी वह आर्मी, नेवी और ऐयर फोर्स का चीफ यानि डिफेन्स मिनिस्टर बन सकता है।

और
जिसके पूरे खानदान में आज तक कोई स्कूल नहीं गया.. वो नेता देश का शिक्षामंत्री बन सकता है।

और
जिस नेता पर कितने भी केस चल रहे हों..
वो नेता पुलिस डिपार्टमेंट का चीफ यानि कि गृह मंत्री बन सकता है।


यदि
आपको लगता है की इस सिस्टम को बदल देना चाहिये..
नेता और जनता, दोनों के लिये एक ही कानून होना चाहिये..
तो
इस संदेश को फार्वड करके देश में जागरुकता लाने में अपना सहयोग दें..


अगर फोरवर्ड नहीं किया तो आप किसी को दोषी मत कहना।
अधिक से अधिक Groups में भेजें।

सरकारी कर्मचारी 30 से35 वर्ष की संतोष जनक सेवा करने के उपरांत भी पेशन का हकदार नहीं ?जब कि मात्र 1दिन के लिए विधायक /सांसद को पेंशन। यह कहाँ का न्याय है...?

🏤 🎓

No comments:

Post a Comment

If you have any type of news you can contact us.

NATION WATCH -->