योगी आदित्यनाथ की सरकार और बीजेपी के साथ मंगलवार को हुई पांचवीं समन्वय बैठक - NATION WATCH (MAGZINE) (UPHIN-48906)

Latest

Breaking News

AAP नेता आतिशी और सौरभ भारद्वाज दोपहर 12 बजे करेंगे प्रेस वार्ता*ज्ञानवापी: व्यास तहखाने में जारी रहेगी पूजा-पाठ, इलाहाबाद HC कोर्ट का फैसला*आज भी ED के सामने पेश नहीं होंगे अरविंद केजरीवाल*पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में TMC पंचायत नेता की गोली मारकर हत्या*पश्चिम बंगाल पुलिस का एक्शन, TMC नेता अजीत मैती गिरफ्तार*PM नरेंद्र मोदी ने पुण्य तिथि पर वीर सावरकर को दी श्रद्धांजलि* [Nation Watch - Magzine - Title Code - UPHIND-48906]

Nation Watch


Wednesday, June 27, 2018

योगी आदित्यनाथ की सरकार और बीजेपी के साथ मंगलवार को हुई पांचवीं समन्वय बैठक





योगी आदित्यनाथ की सरकार और बीजेपी के साथ मंगलवार को हुई पांचवीं समन्वय बैठक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने सरकार में बैठे लोगों की जवाब देही तय करने की बात कही है। संघ के शीर्ष नेताओं ने योगी को 2019 चुनाव के लिए प्रदेश में पूरी पावर देने का फैसला किया है योगी चुनाव की जरूरतों के मुताबिक सरकार के फैसले ले सकेंगे यही नहीं संगठन में भी कोई भी बड़ा फैसला उनकी सहमति के बिना नहीं लिया जाएगा सरकार में किसे शामिल करना है और किसे बाहर का रास्ता दिखाया जाना है ये भी योगी चुनावी जरूरतों के हिसाब से खुद तय कर सकेंगे अब तक ऐसे फैसलों में प्रदेश संगठन और केंद्रीय नेतृत्व की सहमति जरूरी मानी जाती थी

योगी और संघ के बड़े नेताओं के बीच कई दौर की बातचीत हुई इसके बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने योगी आदित्यनाथ को ही 2019 में उत्तर प्रदेश से बीजेपी की जीत सुनिश्चित करने का जिम्मा सौंप दिया उत्तर प्रदेश के दलितों और पिछड़ों सहित अलग-अलग जातियों को साधने की पूरी जिम्मेदारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार की ही होगी। आरएसएस ने योगी आदित्यनाथ को पिछड़ों और दलितों को पूरी तरीके से साथ रखने का आदेश सुनाया है इसके साथ ही हिंदुत्व को भी धार देने की बात कही गई है अगर ये कहा जाए कि बीजेपी यूपी में 2019 का संग्राम जीतने के लिए हिंदुत्व को सबसे बड़ा हथियार बनाएगी तो गलत नहीं होगा।

 अभी तक उत्तर प्रदेश में पार्टी संगठन और सरकार के अलग-अलग ध्रुव होने की खबरें आती रहती हैं. इससे योगी आदित्यनाथ की स्थिति कमजोर हो रही है संकेत ये दिये जा रहे हैं कि योगी आदित्यनाथ की न तो संगठन में चलती है और न ही पूरी तरह से सरकार में रही सही कसर उपचुनावों में बीजेपी की दुर्गति ने पूरी कर दी है मुख्यमंत्री इस बात को कई बार बीजेपी और संघ के शीर्ष नेताओं के सामने उठा चुके हैं. ऐसे में संघ ने समन्वय बैठक में सबसे बड़ा फैसला योगी को खुला पावर देने का किया है।

यूपी सरकार और संघ के बीच मंगलवार को संवाद के कई दौर चले. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुबह दिल्ली में संघ कार्यालय झंडेवालान पहुंचे, जहां पर दो घंटे से ज्यादा समय तक उनकी संघ के शीर्ष पदाधिकारियों के साथ बातचीत चली. झंडेवालान में योगी ने पहले भैयाजी जोशी से मुलाकात की. इसके बाद उनकी मुलाकात मोहन भागवत से भी कराई गई।

सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली से लौटने के बाद योगी आदित्यनाथ ने संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले के साथ लखनऊ के जियामऊ में पांचजन्य कार्यालय में समन्वय बैठक की इस बैठक में दत्तात्रेय और सीएम योगी के साथ उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा के साथ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय और यूपी के संगठन महामंत्री सुनील बंसल को भी बुलाया गया था।


समन्वय बैठक में संघ ने योगी सरकार को पिछड़ों, दलितों और किसानों की योजनाओं पर जोर देने की नसीहत दी. संघ ने योगी आदित्यनाथ से कार्यकर्ताओं की नाराजगी खत्म करने और कुछ मंत्रियों की आ रही शिकायतों पर भी गौर करने को कहा कुछ मंत्रियों के पर कतरने की तैयारी की गई है खासकर उन मंत्रियों के जिनके चलते सरकार की छवि खराब हो रही है जल्द ही प्रदेश में बदलाब दिखने की उम्मीद है। 

ब्यूरो रिपोर्ट आज की सत्ता 
   डी  पी एस  कुशवाहा 

No comments:

Post a Comment

If you have any type of news you can contact us.

NATION WATCH -->