चार बार पीएम से मिलने के लिये इस मुख्यमंत्री ने मांगा समय, लेकिन मिला हैरान कर देना वाला जवाब - NATION WATCH - बदलते भारत की आवाज़ (MAGZINE) (UPHIN-48906)

Latest

Breaking News

कांग्रेस की सोच विकास विरोधी, बाड़मेर में बोले पीएम मोदी*मुंबई: 2019 अंडरवर्ल्ड जबरन वसूली कॉल मामले में दाऊद के भतीजे सहित 3 बरी*कौन क्या खा रहा इस पर राजनीति हो रही है: RJD नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी*कोयंबटूर: चुनाव प्रचार के दौरान NDA-INDIA ब्लॉक के कार्यकर्ताओं में झड़प, सात घायल*बेंगलुरु कैफे ब्लास्ट के आरोपियों को हमने 2 घंटे में गिरफ्तार कर लिया: ममता बनर्जी*मोस्ट वांटेड नक्सली कमांडर हिडमा की तलाश में जुटी IB और NIA टीम*'इस बार यूपी की सभी 80 लोकसभा सीट जीतेंगे', मुरादाबाद में बोले अमित शाह*मनीष सिसोदिया ने अदालत में लगाई अर्जी, चुनाव प्रचार के लिए मांगी अंतरिम जमानत || [Nation Watch - Magazine - Title Code - UPHIND-48906]

Nation Watch


Thursday, July 5, 2018

चार बार पीएम से मिलने के लिये इस मुख्यमंत्री ने मांगा समय, लेकिन मिला हैरान कर देना वाला जवाब

देश के प्रधानमंत्री अक्सर सभी राज्यों के साथ एक जैसा व्यवहार करने का दावा करते रहते हैं लेकिन असलियत तो ये हैं कि मोदी गैर बीजेपी शाषित राज्यों से सौतेला व्यवहार करते हैं. ये हम ऐसे ही नही कह रहे हैं बल्कि जब गैर बीजेपी शाषित राज्य के मुख्यमंत्री ने चार बार पीएम से मिलने का वक्त माँगा तो मिला हैरान कर देने वाला जवाब!


गैर बीजेपी शाषित राज्य के सीएम से नही मिले पीएम मोदी!

आपको बता दें कि केरल के सीएम और वामपंथी नेता पी विजयन को चार बार प्रधानमंत्री से मिलने का वक्त नही दिया गया. आपको बता दें सीएम दफ्तर से मिली जानकारी के मुताबिक पीएमओ ने मुख्यमंत्री विजयन को पीएमओ की ओर से मिलने का समय नहीं दिया. केरल के सीएम अपने एक दल के साथ दिल्ली आये थे और पीएम से मुलाक़ात करके राशन से जुड़े मुद्दे पर बात करना चाह रहे थे लेकिन उन्हें मिलने का वक्त नही दिया गया.

मोदी से सीएम से मिलने से किया इंकार!

इससे पहले भी कल के सीएम पी विजयन कई बार पीएम मोदी से मुलाक़ात करने की कोशिश कर चुके हैं लेकिन हर बार उन्हें पीएम मोदी से मिलने का वक्त नही दिया गया. जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली में केजरीवाल के अनशन के दौरान केरल के सीएम उन नेताओं में शामिल थे जिन्होंने ना कि सिर्फ अरविन्द केजरीवाल से मुलाक़ात की थी बल्कि दिल्ली के मुद्दे को सुलझाने के लिए पीएम मोदी को खत भी लिखा था. 20 मार्च 2017 को भी केरल के सीएम मोदी से मुलाकात करना चाहते थे लेकिन ये मुलाक़ात नही हो पायी. 20 मार्च 2017 को भी विजयन मोदी से मिलने के लिए वक्त माँगा था.

अब इस बात से तो यह साफ़ हो जाता है कि चार बार कोशिश करने के बाद भी पीएम  से मुलाकात होने के पीछे कोई कारण जरुर होगा. आपको बता दें कि बीजेपी अक्सर केरल सरकार पर आरोप लगाती हैं कि उसके कार्यकर्ताओं की ह्त्या करने वालों को केरल सरकार का संरक्ष्ण मिला हुआ है.

No comments:

Post a Comment

If you have any type of news you can contact us.

NATION WATCH -->