चक्रवर्ती सम्राट चंद्रगुप्तमौर्य पर टिप्पड़ी के विरोध में 75 जिलो में कैण्डल मार्च - अजय मौर्य aaj ki satta - NATION WATCH - बदलते भारत की आवाज़ (MAGZINE)

Latest

Advertise With Us:

Advertise With Us:
NationWatch.in

Search This Blog

Breaking News

जहां रामनवमी के दौरान सांप्रदायिक हिंसा हुई वहां न हो लोकसभा चुनाव- कलकत्ता HC की टिप्पणी*बीजेपी ने लद्दाख से मौजूदा सांसद का टिकट काटकर ताशी ग्यालसन को बनाया कैंडिडेट*अरविंद केजरीवाल और के कविता की न्यायिक हिरासत 7 मई तक बढ़ी*शराब घोटाला केस: के कविता की न्यायिक हिरासत 7 मई तक बढ़ी,*दिल्ली HC ने लोकपाल के आदेश को चुनौती देने वाली JMM की याचिका पर नोटिस जारी किया*कन्हैया कुमार बोले- मनोज तिवारी अगर जीत रहे है तो 40 डिग्री में क्यों रैली कर रहे हैं*केरल HC ने BJP के राजीव चंद्रशेखर द्वारा दायर नामांकन पत्र को रद्द करने की मांग वाली याचिका खारिज की*कर्नाटक: कांग्रेस नेता रमेश बाबू ने PM मोदी को लेकर दिया विवादित बयान*पतंजलि मामले में 30 अप्रैल को होगी अगली सुनवाई, बाबा रामदेव होंगे SC में पेश*बेंगलुरु एयरपोर्ट पर बैंकॉक से आने वाले एक यात्री से 10 एनाकोंडा जब्त किए गए*अब आप चैन से हनुमान चालीसा भी गाएंगे और रामनवमी भी मनाएंगे, ये BJP की गारंटी है: PM मोदी || [Nation Watch - Magazine - Title Code - UPHIND-48906]

Nation Watch


Monday, July 23, 2018

चक्रवर्ती सम्राट चंद्रगुप्तमौर्य पर टिप्पड़ी के विरोध में 75 जिलो में कैण्डल मार्च - अजय मौर्य aaj ki satta

                        चक्रवर्ती सम्राट चंद्रगुप्तमौर्य पर टिप्पड़ी के विरोध में 75 जिलो में  कैण्डल मार्च
                                     अजय मौर्य (राष्ट्रीय अध्यक्ष) अखिल भारतीय मौर्य महासभा

अखिल भारतीय मौर्य महासभा भारत के गृह मंत्री राजनाथ सिंह के दिनांक 20 जुलाई 2018 को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए लोकसभा में मौर्य समाज के संस्थापक प्रथम चक्रवर्ती सम्राट चंद्रगुप्तमौर्य के विषय मे बोलते हुए जातिय अपमान नामक टिप्पड़ी पर मौर्य जाति की नही अखण्ड भारत के निवासियों को अपमानित किया है मौर्य केवल जाति ही नही भारत की अनमोल सांस्क्रतिक पहचान है उन्होने अपने भाषण में चंद्रगुप्तमौर्य के बारे में कहा था कि वह भेड़ बकरी चराते थे किसी उच्च जाति के नही थे फिर भी राजा बने उन्हें याद रखना चाहिए था कि आज विश्व पटलयथागत पर गौतमबुद्ध एवं मौर्य काल  के शासक की वजह से भारत की पहचान है न कि राजनाथ जैसे अशोभनीय सोंच रखने वाली की जाति की वजह से स्मरण रहना चाहिए कि विश्व मे भारत की पहचान मौर्य समाज मे चंद्रगुप्तमौर्य एवं तथागत बुद्ध की बजह से है । अखिल भारतीय मौर्य महासभा गृहमंत्री  राजनाथ सिंह के द्वारा लोकसभा मे चंद्रगुप्तमौर्य की जाति पर जो अशोभनीय टिप्पड़ी के विरोध में उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में मुख्यालय पर 25 जुलाई को 2018 को शाम 7 बजे कैंडल मार्च निकालकर  शांति पूर्वक विरोध करेगी ।
रिपोर्ट लखनऊ से ब्यूरो चीफ अनुज मौर्य

No comments:

Post a Comment

If you have any type of news you can contact us.

AD

Prime Minister Narendra Modi at the National Creators' Awards, New Delhi

NATION WATCH -->