पेट्रोल 6 और डीजल 5 रुपये प्रति लीटर हुआ महंगा - NATION WATCH - बदलते भारत की आवाज़ (MAGZINE) (UPHIN-48906)

Latest

Breaking News

कांग्रेस की सोच विकास विरोधी, बाड़मेर में बोले पीएम मोदी*मुंबई: 2019 अंडरवर्ल्ड जबरन वसूली कॉल मामले में दाऊद के भतीजे सहित 3 बरी*कौन क्या खा रहा इस पर राजनीति हो रही है: RJD नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी*कोयंबटूर: चुनाव प्रचार के दौरान NDA-INDIA ब्लॉक के कार्यकर्ताओं में झड़प, सात घायल*बेंगलुरु कैफे ब्लास्ट के आरोपियों को हमने 2 घंटे में गिरफ्तार कर लिया: ममता बनर्जी*मोस्ट वांटेड नक्सली कमांडर हिडमा की तलाश में जुटी IB और NIA टीम*'इस बार यूपी की सभी 80 लोकसभा सीट जीतेंगे', मुरादाबाद में बोले अमित शाह*मनीष सिसोदिया ने अदालत में लगाई अर्जी, चुनाव प्रचार के लिए मांगी अंतरिम जमानत || [Nation Watch - Magazine - Title Code - UPHIND-48906]

Nation Watch


Wednesday, April 22, 2020

पेट्रोल 6 और डीजल 5 रुपये प्रति लीटर हुआ महंगा


कोरोना के कहर के बीच अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें औंधेमुंह गिर गई हैं।  अमेरिका में कच्चे तेल की कीमत सोमवार को जीरो डॉलर के नीचे चली गई यानी प्राइस निगेटिव  हो गई। इससे भारत के आम लोगों में एक उम्मीद जगी कि आने वाले दिनों में पेट्रोल-डीजल के रेट कम होंगे । लेकिन, बुधवार को ही पेट्रोल की कीमतों में लगभग 6 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी हो गई, वहीं डीजल 5 रुपए प्रति लीटर महंगा हो गया। पेट्रोल-डीजल के रेट में भारी बढ़ोत्तरी करने वाला राज्य है असम। राज्य के वित्त (कराधान) विभाग द्वारा मंगलवार को इस संबंध में एक अधिसूचना जारी की गई।
असम मूल्य वर्धित कर अधिनियम, 2003 के प्रावधानों के तहत प्रमुख सचिव समीर कुमार सिन्हा द्वारा जारी अधिसूचना 22 अप्रैल को सुबह 12:00 बजे से प्रभावी हो गई है। इसके बाद अब असम में पेट्रोल की कीमत 71.61 रुपये से बढ़कर 77.46 रुपये प्रति लीटर हो गई। डीजल की कीमत 65.07 रुपये से बढ़कर 70.50 रुपये हो गई। कोविड -19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए  लॉकडाउन के कारण राज्य की अर्थव्यवस्था पर तेल की कीमतों में बढ़ोतरी का दबाव है। 
असम के वित्त मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि असम को तेल की बिक्री से रॉयल्टी के रूप में औसतन 166 करोड़ रुपये मिलते हैं,  लेकिन कीमतें कम होने के कारण यह आंकड़ा 50 करोड़ रुपये प्रति माह से कम होगा। वहीं अंतर्राष्ट्रीय तेल की कीमतों में कमी के कारण, यह उस राशि को प्रभावित करेगा जो असम को ओएनजीसी और ऑयल इंडिया लिमिटेड से तेल के लिए रॉयल्टी के रूप में मिलती है। यह बढ़ोत्तरी अस्थायी उपाय और कोरोनोवायरस संकट खत्म होते ही रोल बैक होगा। '' 

No comments:

Post a Comment

If you have any type of news you can contact us.

NATION WATCH -->